शुभेंदु को बेगुसराय के एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन इजाल के दौरान ही उनकी मौत हो गई थी. सूत्रों की मानें तो शुभेंदू का जिस अस्पातल में इलाज चल रहा था उसमें अब तक 15 डॉक्टर्स कोरोना से संक्रमित पाए जा चुके हैं.

Corona Vaccine लेने के बाद बिहार में मेडिकल कॉलेज का छात्र कोविड से हुआ संक्रमित, इलाज के दौरान हुई मौत

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

देशभर में तेजी से कोरोना वैक्सीनेशन का कार्यक्रम जारी है, लेकिन इस बीच बिहार से एक दुखद घटना सामने आई है. बिहार के नालंदा मेडिकल कालेज के एक छात्र की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई है. हैरानी की बात यह है कि जिस छात्र की मौत हुई है उसने एक सप्ताह पहले कोविड वैक्सीन की पहली डोज ली थी. छात्र का नाम शुभेंदु सुमन है और वह MBBS फाइनल ईयर का छात्र था.

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने बयान देते हुए कहा कि छात्र की मौत की खबर से काफी दुखी हूं. उन्होने कहा कि बिहार सरकार तेजी से केंद्र के साथ मिलकर कोरोना को खत्म करने के लिए हर संभव कदम उठा रही है. उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि छात्र की मौत के साथ ही कई डॉक्टर्स भी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. उन्होंने कहा कि इस बात का पता लगाया जा रहा है कि मेडिकल कॉलेज में और कितने लोग कोरोना की चपेट में हैं.

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मेडिकल कॉलेज के सभी छात्रों का आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक जिस एमबीबीएस छात्र की मौत हुई है उसने फरवरी के पहले सप्ताह में वैक्सीन की पहली डोज ली थी लेकिन वह 25 फरवरी को कोरोना की जांच में पाजिटिव पाया गया था.

शुभेंदु को बेगुसराय के एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन इजाल के दौरान ही उनकी मौत हो गई थी. सूत्रों की मानें तो शुभेंदू का जिस अस्पातल में इलाज चल रहा था उसमें अब तक 15 डॉक्टर्स कोरोना से संक्रमित पाए जा चुके हैं. देश में कोरोना वैक्सीनेशन का पहला चरण खत्म हो चुका है और देश अब एक मार्च से वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रवेश कर चुका है. इस चरण में ऐसे लोगों को वैक्सीन दी जाएगी जिनकी उम्र 60 साल से ज्यादा और 45 साल से ज्यादा के ऐसे लोग जो किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed