ईडी (ED) ने आधिकारिक तौर पर कहा कि कोयला घोटाले में 13 सौ करोड़ रुपए की रिश्वत के सबूत मिले हैं.

Coal Scam:  विकास मिश्रा खोला TMC का राज, ED को मिले 13 सौ करोड़ रुपए की रिश्वत के सबूत

फाइल फोटो: विकास मिश्रा.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के भतीजे और टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) के करीबी विनय मिश्रा (Binoy Mishra) के भाई विकास मिश्रा (Bikash Mishra)  प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में टीएमसी का राज खोलेगा. मंगलवार को उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था. ईडी ने आधिकारिक तौर पर कहा कि कोयला घोटाले में 13 सौ करोड़ रुपए की रिश्वत के सबूत मिले हैं.

बता दें कि विनय मिश्रा के खिलाफ ओपन वारंट मिलने के बाद अब सीबीआई ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था. उस पर कोयला और गाय तस्करी के मामले में लिप्तता का आरोप है. आरोप है कि विनय मिश्रा टीएमसी एमपी अभिषेक बनर्जी के लिए लिंक मैन का काम किया करता था. सीबीआई इस मामले में अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी और उनके रिश्तेदारों से पूछताछ कर चुकी है.

विनय और विकास मिश्रा ने लिए थे 730 करोड़ रुपए

ईडी के सूत्रों के अनुसार कोयला घोटाले में रिश्वत की राशि में  730 करोड़ रुपए विनय मिश्रा और उसके भाई विकास मिश्रा ने लिए थे.  यह प्रभावशाली लोगों के नाम पर ली गई घूस की रकम थी. रिश्वत की रकम किन लोगों तक जाती थी और कैसे जाती थी. विकास मिश्रा रिश्वत के पैसों को इधर से उधर पहुंचाने में अहम रोल अदा करता था.

विकास मिश्रा ने टीएमसी नेताओं और नौकरशाहों के नामों का किया है खुलासा

सूत्रों के मुताबिक अब तक की पूछताछ में विकास मिश्रा ने कुछ टीएमसी नेताओं समेत कुछ नौकरशाहों के नाम भी लिए है. विकास मिश्रा ने खुलासा किया है कि रिश्वत की रकम नगदी के अलावा कुछ लोग गोल्ड तथा अन्य चीजों के तौर पर भी लेते थे.ईडी मुख्यालय में विकास मिश्रा से हो रही है पूछताछ हो रही है. कल गिरफ्तारी के बाद विकास मिश्रा 6 दिनों की ईडी की रिमांड पर है. विनय मिश्रा टीएमसी एमपी अभिषेक बनर्जी का खासम खास है, जो फिलहाल दुबई बांग्लादेश में बताया जाता है. विकास मिश्रा से पूछताछ के आधार पर ईडी कुछ नेताओं और नौकरशाहों को पूछताछ के लिए बुला सकता है.

सीबीआई ने विनय मिश्रा के खिलाफ जारी किया है रेड कॉर्नर नोटिस

बता दें कि सीबीआई ने विनय मिश्रा के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है. विनय मिश्रा का नाम कुछ महीने पहले ही सामने आया था, जब बीजेपी की ओर से आरोप लगाया गया कि विनय मिश्रा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी का खास है और अवैध कारोबार के रुपयों का लेन देन देखता है. सीबीआई विनय मिश्रा के घर में कई बार छापेमारी कर चुकी है. विनय मिश्रा के संस्थान पर भी छापेमारी की जा चुकी है. हालांकि अभी तक विनय मिश्रा को पकड़ने में सीबीआई को कोई कामयाबी नहीं मिल पाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed