तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari court) के जज ने कहा कि दीप सिद्धू (Deep Sidhu) की जमानत याचिका का मामला पहली बार हमारी कोर्ट में आया है इसलिए जरूरी है कि डिस्ट्रिक्ट जज ये तय करें कि कौन सी कोर्ट इस मामले की सुनवाई करेगी.

दीप सिद्धू की जमानत याचिका पर आज सुनवाई टली, तीस हजारी कोर्ट ने मामले को भेजा दूसरी बेंच के पास

लाल किला हिंसा का आरोपी दीप सिद्धू (File Photo)

दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari court) पंजाब के एक्टर और सिंगर दीप सिद्धू (Deep Sidhu) की जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही है, जो गणतंत्र दिवस पर किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के मामले का मुख्य आरोपी है. इस मामले में आज बुधवार को सुनवाई होनी थी, जो टाल दी गई है. कोर्ट ने आज ही दोपहर 2 बजे जमानत याचिका को जिला और सत्र न्यायाधीश के सामने सुनवाई के लिए भेज दिया है. कोर्ट ने दोनों पक्षों की उपस्थिति दर्ज की और कहा कि वह मामले को जिला जज के पास भेजेगी, जिला जज ये तय करेंगे कि दीप सिद्धू की जमानत पर कौन सी कोर्ट सुनवाई करेगी.

तीस हजारी कोर्ट के जज दीपक डबास ने कहा कि ‘ये मामला पहली बार हमारी कोर्ट में आया है इसलिए जरूरी है कि डिस्ट्रिक्ट जज ये तय करें कि कौन सी कोर्ट इस मामले की सुनवाई करेगी’. उन्होंने कहा, “पहले की सुनवाई एक अलग जज के सामने हुई है. मुझे इस मामले को अन्य न्यायाधीश के पास भेजना होगा.” इसी के साथ कोर्ट ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को जल्द से जल्द अपना जवाब दाखिल करने के लिए कहा है. अब इस मामले पर अगली सुनवाई कल यानी गुरुवार को हो सकती है.

मिडिया ट्रायल का शिकार हुआ है सिद्धू : वकील

अभियोजन पक्ष के अनुसार, दीप सिद्धू पर यह आरोप लगाया गया है कि दिल्ली में 26 जनवरी को हुई हिंसा में उसने प्रदर्शनकारियों को भड़काने की कोशिश की थी, वहीं सिद्धू ने अपनी याचिका में कहा है कि वह वास्तव में भीड़ को शांत करने की कोशिश कर रहा था. आरोपी के वकील ने कहा कि दीप सिद्धू निर्दोष है और वह मिडिया ट्रायल का शिकार हुआ है. वहीं, दिल्ली पुलिस ने भी अपना जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा है. इसी के साथ पुलिस ने ये भी बताया कि इस मामले में सात आरोपियों की जमानत हो चुकी है. इंस्पेक्टर पंकज अरोड़ा ने कहा कि ASJ चारू अग्रवाल ने 7 सह आरोपियों को जमानत दे दी है.

गणतंत्र दिवस के दिन लाल किले पर हुई थी हिंसा

मालूम हो कि गणतंत्र दिवस के दिन राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हुई थी. इस बीच कुछ प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर लेकर लाल किले पहुंचे. इनमें से कुछ अंदर गए और ऐतिहासिक इमारत की प्राचीर पर धार्मिक झंडा लगा दिया. हिंसा में करीब 500 पुलिसकर्मी घायल हो गए और एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी. इस हिंसा मामले में मुख्य आरोपी सिद्धू को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने 8 फरवरी की रात हरियाणा में करनाल बाइपास के पास से गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उसे 7 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेजा गया था. गिरफ्तारी के बाद सिद्धू ने पूछताछ में बताया था कि उसका कोई बुरा इरादा नहीं था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed