घूस मांगने की शिकायत के आधार पर ACB अधिकारियों ने मामले की जांच की. वेलडांडा मंडल के तहसीलदार साईदुलु और घूस लेने वाले वेंकटैया गौड़ को गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तारी से बचने के लिए घूस के 5 लाख रुपए को जलाया, ACB ने हवलदार समेत दो को हिरासत में लिया

ACB द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी (फोटो- ANI)

तेलंगाना के नागरकुर्नूल जिले में एक व्यक्ति ने गिरफ्तारी से बचने के लिए घूस में लिए गए पैसे को कथित रूप से जला दिया. पत्थर खदान के लिए लाइसेंस उपलब्ध कराने के नाम पर एक तहसीलदार ने इसी व्यक्ति के जरिए 5 लाख रुपए की रिश्वत बटोरी थी, लेकिन एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) टीम ने उन्हें मौके पर पकड़ लिया. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, एक सीनियर ACB अधिकारी ने बताया कि 2000 रुपए के 46 नोट (कुल 92,000 रुपए) पूरी तरह जल गए और बाकी 500 रुपए के नोट और कुछ 2000 के नोट थोड़े जले हैं.

एसीबी के मुताबिक, तहसीलदार ने उस व्यक्ति को 5 लाख रुपए घूस की रकम शिकायतकर्ता रमावथ रामुलु से अपने घर पर लेने को कहा था. इसके बदले में शिकायतकर्ता को एनओसी जारी किया जाता और इसे खदान विभाग को भेजकर लाइसेंस दिलाने की डील हुई थी. शिकायत के आधार पर एसीबी अधिकारियों ने मामले की जांच की. मामले में वेलडांडा मंडल के तहसीलदार साईदुलु और घूस लेने वाले वेंकटैया गौड़ को गिरफ्तार किया है.

एसीबी टीम जाल बिछाकर वेंकटैया गौड़ के घर पहुंच गई थी. एसीबी अधिकारियों के पहुंचने के संदेह पर गौड़ ने अपने घर को अंदर से बंद कर लिया था और पकड़े जाने के डर से किचन में जाकर सभी नोटों को जलाने लगा. एसीबी अधिकारियों ने आधे जले नोटों उसके घर से बरामद किया और उसे हिरासत में ले लिया. अधिकारियों ने बताया कि तहसीलदार साईदुलु ने गौड़ के जरिए पूरे मामले को निपटाने की कोशिश की थी.

बाद में तहसीलदार को भी घूस मांगने और लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. अधिकारी ने बताया कि मामले में एक केस दर्ज किया गया है और जांच की जा रही है. दोनों आरोपियों को एसपीई और एसीबी मामले के लिए हैदराबाद में एडिशनल स्पेशल जज के सामने पेश किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed