लगातार हो रही बारिश (Maharashtra Rain) की वजह से रत्नागिरि और रायगढ़ जिलों के हालात काफी खराब हो गए है. रत्नागिरि के चिपलून, खेड़ और दूसरे इलाकों में बाढ़ आ गई है. जिसकी वजह से लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है.

Maharashtra: आफत की बारिश! रत्नागिरि और रायगढ़ में बाढ़ से हाहाकार, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, जानें बाकी जिलों का ताजा हाल

महाराष्ट्र में इन दिनों आफत की बारिश जारी है. बारिश की वजह से मुंबई, कोल्हापुर, नागपुर समेत कई जगहों का हाल बेहाल है.

महाराष्ट्र में इन दिनों भारी बारिश (Maharashtra Rain) जारी है. बारिश की वजह से मुंबई, कोल्हापुर, नागपुर समेत कई जगहों का हाल बेहाल है. लगातार हो रही बारिश से कई जिलों में बाढ़ (Flood In Districts) आ गई हैं. कई नदियों के उफान पर होने की वजह से रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है. जिसके बाद NDRF-SDRF की टीमें राहत और बचाव कार्य में लगी हुई हैं. लगातार लोगों को बाढ़ग्रस्त इलाकों से निकालकर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है.

बाढ़ की वजह से किखली गांव के लोगों में हाहाकार मचा हुआ था. जिसके बाद NDRF की टीम ने चिखली गांव से लोगों को रेस्क्यू (Rescue Operation) कर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया. इसके साथ ही रायगढ़ में भूस्खलन की खबरें भी सामने आ रही हैं. रायगढ़ की जिला कलेक्टर निधि चौधरी ने बताया कि स्थानीय पुलिस अब तक 15 लोगों को रेस्क्यू कर चुकी है. करीब 30 लोग अब भी भीतर फंसे हुए हैं. उन्होंने बताया कि रायगढ़ में बारिश की वजह से भूस्खलन (Landslide In Raigarh) की चार घटनाएं सामने आई हैं. जिसकी वजह से सड़क पूरी तरह से जाम हो गई है. कलेक्टर ने कहा कि बाढ़ की वजह से कलऊ गांव तक जाने वाली सड़क पानी में बह चुकी है, जिसकी वजह से लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

रत्नागिरि और रायगढ़ में बाढ़ से हाहाकार

बारिश और बाढ़ की वजह से रत्नागिरि का हाल भी बेहाल है. यहां पर भी सेना के जवान लोगों को रेस्क्यू करने में लगे हुए हैं. राज्य के कई हिस्सों में लगातार हो रही बारिश की वजह से रत्नागिरि और रायगढ़ जिलों के हालात काफी खराब हो गए है. रत्नागिरि के चिपलून, खेड़ और दूसरे इलाकों में बाढ़ आ गई है. लगातार हो री बारिश की वजह से राहत और बचाव कार्य भी बाधित हो रहा है. इसके साथ ही परशुराम घाट के पास भूस्खन भी हो गया है.

बता दें कि सीएमओ की तरफ से पहले ही रत्नागिरि के जगबूदी, वशिष्टी, कोदावली, शास्त्री, भव समेत कई नदियों के खतरे के निशान से ऊपर बहने को लेकर अलर्ट जारी किया गया था. बाढ़ की वजह से खेड़, चिपलून, लांजा, राजापुर, संगमेश्वर जैसी कई जगहों बुरी तरह से प्रभावित हो रही हैं. लोगों का रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार जारी है. कोस्ट गार्ड, नगर निगम, कस्टम की टीमें बोट के जरिए लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा रही हैं.

मुंबई

पालघर और ठाणे जिलों में दो दिन से भारी बारिश हो रही है. जिसकी वजह से बाढ़ आ गई है. इसका असर ट्रेन सेवाओं पर भी देखा जा रहा है. सीएम उद्धव ठाकरे खुद हालात पर नजर बनाए हुए हैं. गुरुवार को उन्होंने दोनों जगहों का जायजा लिया. लगातार हो रही बारिश के बाद से महाराष्ट्र लगातार अलर्ट मोड पर है. मौसम विभाग ने कोंकण तट पर तीन दिनों तक अलर्ट जारी किया है.

अमरावती

भारी बारिश की वजह से अमरावती के हालात भी काफी खबार हो गए हैं. सिपना नदी पूरी तरह से उफान पर है. पिछले तीन दिनों से यहां वपर लगातार बारिश हो रही है.

सांगली

लगातार हो रही तेज बारिश की वजह से सांगली के हालात भी काफी खराब हैं. चांदोली बांध भी फिलहाल ओवर फ्लो हो गया है. 8 घंटों में यहां 3 इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है.

कोल्हापुर

दो दिन लगातार हुी बारिश की वजह से सभी नदियां उफान पर हैं. पंचगंगा नदी खतरे के निशान के पास पहुंच गई है. इस तरह के हालात को देखते हुए जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है.

अकोला

तेज बारिश की वजह से हर तरफ पानी भर गया है. शहर के बीच में बहने वाली मोरना नदी ओवरफ्लो हो गई. जिसकी वजह से बाढ़ आ गई है. 10 से 15 गांव जलमन्ग हो गए हैं. लोगों का रेस्क्यू लागतार किया जा रहा है.

नागपुर

बारिश की वजह से कई इलाकों में जलभराव हो गया है. जिसकी वजह से लोगों को आवाजाही में काफभी परेशानी हो रही है. बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है.

फिलहाल बारिश से राहत नहीं

महाराष्ट्र में फिलहाल बारिश से राहत मिलती नहीं दिख रही है. मौसम विभाग ने पांच जिलों में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है. आने वाले 10 दिनों तक राज्य में बारिश और आंधी तूफान का अनुमान जताया जा रहा है. 6 अगस्त तक राज्य के ज्यादातर हिस्सों में गरज के साथ बारिश का अनुमान मौसम विभाग ने जाताया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed