अपने तीन दशक के लंबे करियर में वे शिक्षा और पंचायती राज मंत्रालय में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे. साथ ही वे प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन और मनरेगा जैसी अहम योजनाओं का हिस्सा भी रहे हैं.

पीएम मोदी के सलाहकार अमरजीत सिन्हा ने दिया इस्तीफा, इस साल PMO छोड़ने वाले दूसरे अधिकारी

पिछले साल फरवरी में सलाहकार के रूप में हुई थी अमरजीत सिन्हा की नियुक्ति (फोटो- वीडियो ग्रैब)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाहकार अमरजीत सिन्हा ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया. हालांकि इसे लेकर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है. अमरजीत सिन्हा बिहार कैडर से 1983 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी हैं. पिछले साल फरवरी में उन्हें प्रधानमंत्री का सलाहकार नियुक्त किया गया था. वे सामाजिक क्षेत्र से जुड़े प्रोजेक्ट को हैंडल करते थे. उनका कार्यकाल दो साल के लिए था.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के एक अधिकारी ने नाम ना बताने की शर्त पर सिन्हा के इस्तीफे की पुष्टि की है. उनके इस्तीफे की वजह साफ नहीं हो पाई है. इस साल प्रधानमंत्री कार्यालय से यह दूसरा महत्वपूर्ण इस्तीफा है. इससे पहले मार्च में प्रधानमंत्री मोदी के मुख्य सचिव पीके सिन्हा ने भी अपने पद से इस्तीफा दिया था.

अमरजीत सिन्हा की प्रधानमंत्री के सलाहकार के रूप में नियुक्ति एक और अधिकारी भास्कर खुलबे के साथ हुई थी. सिन्हा साल 2019 में ग्रामीण विकास मंत्रालय के सचिव के पद से रिटायर हुए थे. अपने तीन दशक के लंबे करियर में वे शिक्षा और पंचायती राज मंत्रालय में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे. साथ ही वे प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन और मनरेगा जैसी अहम योजनाओं का हिस्सा भी रहे हैं.

दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफेंस कॉलेज में टॉपर रह चुके और ऑक्सफोर्ड कैंब्रिज सोसायटी स्कॉलरशिप पाने वाले सिन्हा का छात्र जीवन शानदार रहा है. उन्होंने सैकड़ों आलेख और कई किताबें लिखी हैं. एजुकेशन और पब्लिक हेल्थ विषय पर उनकी खास पकड़ है. बिहार और झारखंड के नक्सल प्रभावित इलाकों में काम करने का भी उनका अनुभव है. वे लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में भविष्य के अधिकारियों के लिए ट्रेनर का पद भी संभाल चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed