शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मुंबई एयरपोर्ट पर लगा अडानी का बोर्ड तोड़ दिया. एयरपोर्ट का प्रबंधन अडानी ग्रुप (Adani Group) के हाथ जाने के बाद ‘अडानी एयरपोर्ट’ नाम का बोर्ड एयरपोर्ट परिसर में लगाया गया था.

‘छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट’ की जगह ‘अडानी एयरपोर्ट’ देख बेकाबू हुए शिवसैनिक, जमकर की तोड़फोड़

शिवसेना कार्यकर्ताओं ने ‘अडानी एयरपोर्ट’ नाम के बोर्ड को उखाड़ा

मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनैशनल एयरपोर्ट (Chhatrapati Shivaji Maharaj International Airport) के पास शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने आज (2 अगस्त, मंगलवार) जमकर हंगामा किया. शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मुंबई एयरपोर्ट पर लगा अडानी का बोर्ड तोड़ दिया. एयरपोर्ट का प्रबंधन अडानी ग्रुप (Adani Group) के हाथ जाने के बाद ‘अडानी एयरपोर्ट’ नाम का बोर्ड एयरपोर्ट परिसर में लगाया गया था. अडानी ने यह बोर्ड  वीवीआईपी गेट पर लगाया था. इससे शिवसैनिक काफी नाराज़ थे.अपनी नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए शिवसैनिकों ने चंद सेकंड में अडानी का बोर्ड गायब कर दिया. शिवसैनिक तोड़-फोड़ करते वक़्त यह चीखते हुए सवाल कर रहे थे कि अडानी कंपनी छत्रपति शिवाजी महाराज का नाम याद नहीं है क्या? उन्हें पता नहीं है क्या कि इस एयरपोर्ट का नाम छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर है?

क्या है पूरा मामला?

वीआईपी गेट नंबर 8 और विले पार्ले हाइवे के बीच स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज के स्मारक के सामने लगे ‘अडानी एयरपोर्ट’ नाम से लगे बोर्ड को शिवसैनिकों ने लाठी-डंडे से मारकर तोड़ दिया. मुंबई के इंटरनैशनल एयरपोर्ट का नाम छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर है. शिवसैनिकों के लिए वहां पर अदानी एयरपोर्ट नाम का रिप्लेसमेंट बिलकुल बर्दाश्त के बाहर है. इसके बदले शिवसेना ने सुझाव दिया है कि नाम को जस का तस रखते हुए एक लाइन ऐड की जाए और लिखा जाए, ‘मैनेज्ड बाइ अडानी एयरपोर्ट.’ शिवसैनिकों का कहना है कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो जहां ‘अडानी एयरपोर्ट’ नाम का बोर्ड दिखेगा, वहां जाकर वे तोड़-फोड़ करेंगे.

अडानी ग्रुप ने इस घटना पर स्टेटमेंट जारी किया

इस घटना पर अपना अडानी ग्रुप ने एक स्टेटमेंट जारी किया है. स्टेटमेंट में लिखा गया है कि मुंबई इंटरनैशनल एयरपोर्ट में    एडानी एयरपोर्ट की ब्रांडिंग को लेकर जो घटनाएं हुई हैं, उन्हें लेकर हम यह आश्वस्त करना चाहते हैं कि अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग लिमिटेड (Adani Airports Holding Limited -AAHL) ने टर्मिनल के पास छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनैशनल एयरपोर्ट नाम की ब्रांडिंग में कोई बदलाव नहीं किया है. यानी अडानी एयरपोर्ट ब्रांड को पिछले ब्रांड से रिप्लेस नहीं किया गया है. जो ब्रांडिंग CSMIA के पास की गई है वो एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया की गाइडलाइंस का पालन करते हुए की गई है. AAHL आगे भी सरकार की ओर जारी की गई गाइडलाइंस का पालन करेगी और एविएशन कम्यूनिटी के हितों को आगे बढ़ाएगी.

अडानी ग्रुप कर रहा है मुंबई एयरपोर्ट का प्रबंधन 

अडानी ग्रुप ने एयरलाइन के क्षेत्र में बड़ा निवेश किया है. देश के अनेक एयरपोर्ट का प्रबंधन अडानी  ग्रुप के हाथ में है. जुलाई महीने में मुंबई इंटरनैशनल एयरपोर्ट के मैनेजमेंट की जिम्मेदारी भी अडानी ग्रुप के हाथ आई है. ग्रुप के चीफ गौतम अडानी ने ट्विट कर यह जानकारी दी थी.

गौतम अडानी का ट्विट

गौतम अडानी ने ट्विट में यह लिखा था कि वर्ल्ड क्लास का मुंबई इंटरनैशनल एयरपोर्ट के मैनेजमेंट की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए हमें अपार हर्ष हो रहा है. मैं वचन देता हूं कि हम ऐसा काम करेंगे कि मुंबई को अभिमान होगा. अडानी ग्रुप व्यापार, आराम और मनोरंजन के लिए भविष्य की जरूरतों के लिहाज से एक एयरपोर्ट इकोसिस्टम तैयार करेगा. हम हजारों की तादाद में स्थानीय स्तर पर नई नौकरियां पैदा करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed